हनुमान जयंती #HanumaanJayanti पर सीखें हनुमान जी के व्यक्तित्व के ये गुण.

भारत की धार्मिक व पौराणिक कथाओं में बहुत से ऐसा नाम व किरदार हैं जिनके कुछ गुणों का भी अगर हम अनुसरण कर लें या उन्हें जीवन में उतरने की कोशिश करें तो हम बहुत बेहतर मनुष्य बन सकते हैं. आज हनुमान जयंती #HanumaanJayanti के अवसर पर हम भारतीयों के प्रिय श्री हनुमान के व्यक्तित्व से जुड़े कुछ ऐसे ही गुणों के विषय में बात करेंगे जो आपको साधारण से असाधारण बनाने की क्षमता रखते हैं

  1. स्वार्थरहित(Selfless) : हनुमान जी के जन जन प्रिय होने का मुख्य कारन उनका किसी भी स्वार्थ से दूर रहकर कार्य करना हैं. जब श्री हनुमान अपने मित्र सुग्रीव के साथ थे तब भी स्वार्थरहित होकर अपने मित्र का सहयोग करते और श्री राम के सानिध्य में भी हनुमान जी ने अपने लिए नहीं वरन अपने पूजनीय श्री राम के लिए स्वार्थ की भावना से दूर होकर कार्य कियें.
  2. अच्छे श्रोता (Great Listener) : विभीषण को लंका से श्री राम के पास लेन में हनुमान जी ने बड़ी भूमिका निभायी, ये तभी संभव हो पाया जब हनुमान ने धैर्य के साथ विभीषण की बात सुनी और उसे समझाया. इस वाकये से हमें सीख मिलती हैं कि अगर किसी से अपनी बात मनवानी हैं तो उसकी बातों को पहले ध्यान से व धैर्यपूर्वक सुनना जरूरी हैं.
  3. शांत रहना (Being composed and calm) : अक्सर हम सबसे अधिक परेशान तब होते हैं जब मुश्किल हमें घेर लेती हैं. लेकिन श्री हनुमान के जीवन की एक घटना से हम समझ सकते हैं कि सबसे शांत उसी वक़्त रहना जरूरी हैं जब आप मुश्किल में हों. रावन ने जब भरी सभा में हनुमान जी की पंच में आग लगा दी तब भी हनुमान जी ने विवेकता पूर्वक खुद को नुक्सान से बचाते हुए रावन की लंका को ही आग लगा दिया.
  4. परिस्थिति के अनुसार बदलना (Adpot the situation) : परिस्थिति के अनुसार हनुमान जी में अपना आकार व कद छोटा या बड़ा करने की क्षमता थी. इस गुण से हम भी खुद को परिस्तिथि के अनुसार ढालना सीख सकते हैं.
  5. स्वयं पर विश्वास (Having faith on yourself) : सीता के खोज में लगे वानर जब समुद्र के एक छोर पर खड़े हो गए तो अपने सहयोगी जामवंत के वचनों के बाद हनुमान सागर पार कर गए. इसमें जामवंत ने जरुर हनुमान को motivate किया था लेकिन सबसे आवश्यक तो हनुमान जी का खुद पर विश्वास होना था. इससे हम सीख सकते हैं कि आपका खुद की क्षमताओं पर विश्वास होना अधिक आवश्यक हैं.

One thought on “हनुमान जयंती #HanumaanJayanti पर सीखें हनुमान जी के व्यक्तित्व के ये गुण.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s